बारिश बीमारिया और सावधानी और बचाव के असरदार घरेलू उपाय

आज हम बतानेवाले है, बारिश में होनेवाली बीमारिया और सावधानी और बचाव के घरेलू उपाय

बारिश को भारतवर्ष के सभी लोग बहुत पसंद करते हैं।पसंद हो भी क्यों ना गर्म-गर्म पकोड़े जो

खाने को मिलते है।लेकिन जब यही बारिश जरूरत से ज्यादा बरसने लगती है तब डेंगू, मलेरिया

आदि बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। आज हम अपने ब्लॉग में बारिश से होने वाली

बीमारियों से कैसे बचेंगे इस विषय में जानकारी देंगे। बारिश बीमारिया और सावधानी

ये भी पढे नॉर्मल डिलीवरी के उपाय जानना चाहती हु। मुझे सिजेरियन नहीं करवाना। – (gharelunuske.com)

Contents hide

बार‍िश में बढ़ जाता है मलेरिया का खतरा। सावधानी और बचाव के असरदार घरेलू उपाय

मलेरिया कैसे होता है?

बारिश ज्यादा होने के कारण मलेरिया फैलने का खतरा ज्यादा रहता है।
मलेरिया एनाफिलिज नाम के मादा मच्छर के काटने से होता है।
मच्छर के काटने से मच्छर का जितना भी कीटाणु होता है वह मानव शरीर में प्रवेश करता है
और 14 दिन तक व्यक्ति को बुखार रहता है।
मलेरिया के मच्छर बारिश के कारण जमे हुए पानी में पाए जाते है। बार‍िश में बढ़ जाता है मलेरिया का खतरा। सावधानी और  बचाव के असरदार घरेलू उपाय

मलेरिया टालने के लिये ये सावधानी बरते

यदि आप मलेरिया जैसी बीमारी से बारिश में बचना चाहते हैं तो
अपने घर में पानी का जमाव बिल्कुल भी ना होने दें।
रात में मच्छरदानी लगाकर ही सोए।
यदि घर में कूलर का प्रयोग कर रहे हैं तो उस कूलर के पानी को 1 सप्ताह से ज्यादा ना रखे
समय-समय पर कूलर के पानी को बदलते रहे।

मलेरिया से बचाव के घरेलू उपाय

मलेरिया यदि आपको हो चुका है ऐसी परिस्थिति में आप को खानपान का खास ख्याल रखना होगा।
आप खाने में लिक्विड चीजें जैसे- खिचड़ी,डलिया आदि खा सकते हैं।
मलेरिया की बीमारी से राहत पाने के लिए आप अमरुद खा सकते हैं।
मलेरिया के समय यदि आप सेब में सेंधा नमक छिड़क कर खाएंगे तो आपको काफी अच्छा महसूस होगा।

बारिश में होनेवाली बीमारिया : डेंगू बुखार के कारण,परहेज और घरेलू उपचार

कई लोग कैसे हो जाते हैं डेंगू का शिकार?

मलेरिया का मच्छर जैसे जमे हुए गंदे पानी में रहता है ठीक उसके विपरीत डेंगू मच्छर साफ पानी में जन्म लेता है।
डेंगू मच्छर इंसान का जान तक ले लेता है। इसलिए बारिश के मौसम में सावधानी बरतनी चाहिए। डेंगू वाले मच्छर का नाम एडीज है।डेंगू बुखार के कारण,परहेज और घरेलू उपचार

डेंगू से बचना है, तो इससे करें परहेज

यदि आप डेंगू से बचना चाहते हैं तो अपने आप को हमेशा ढक कर रखें ताकि मच्छर आपको काट ना सके।रात में गुड नाइट का प्रयोग करे साथ ही मच्छर दानी का भी प्रयोग करे।

डेंगू से बचाव के लिए हमें कौन से घरेलू उपचार करने चाहिए?

  • डेंगू का कोई स्पेशल दवा नहीं है आपको अपने खानपान में खास ख्याल रखना होगा।डेंगू मच्छर के काटने से शरीर में प्लेटलेट की मात्रा कम होती चली जाती है। ऐसी परिस्थिति में यदि आप पपीते का पत्ता खाएंगे तो आपके शरीर में प्लेटलेट की मात्रा बढ़ेगी।मेथी का पत्ता भी डेंगू के इलाज में काफी सहायता करता है। आप चाहे तो मेथी के पत्ते को पानी में डुबोकर खा सकते हैं या फिर मेथी पाउडर को पानी में डालकर पी सकते है।
  • ये भी पढे अमृत नहीं जहर है मटके का पाणी अगर …. – अमृत नहीं जहर है मटके का पाणी अगर…

    वायरल फीवर के कारण, सावधानी और घरेलू उपचार

    वायरल फीवर कैसे होता है?

    अत्यधिक बारिश के कारण बारिश के मौसम में वायरल फीवर भी काफी तेजी से फैलता है। वायरल फीवर तभी होता है जब व्यक्ति बारिश में भीग जाता है या ठंडी हवा लगने के कारण भी वायरल फीवर होता है। यहाँ तक कि मनुष्य का इम्यूनिटी सिस्टम भी कमजोर हो जाता है। वायरल फीवर के कारण, सावधानी और घरेलू उपचार

    वायरल फीवर से बचने के लिये क्या सावधानी बरतनी चाहिये?

    बारिश के पानी में बिल्कुल भी ना भींगे।वायरल फीवर के दौरान अपने खाने में सलाद को अवश्य शामिल करे।यदि आप सूप पसंद करते हैं तो वायरल फीवर में सूप का सेवन भी जरूर करें।गीले कपड़ों में ऐसी रूम में बिल्कुल भी प्रवेश ना करें।अपने घर के फ्लोर को हमेशा फिनाइल से पोछा लगवाएं।

    वायरल फीवर के घरेलू इलाज क्या है?

    तुलसी के पत्ते, काली मिर्च एवं अदरक का चाय बनाकर वायरल फीवर के दौरान जरूर की पीजिए।वायरल फीवर के दौरान गुनगुना पानी पीजिए।वायरल फीवर के दौरान बाहर का खाना बिल्कुल मत खाइए।

    बारिश में होनेवाली बीमारिया : जॉन्डिस के कारण,सावधानी और घरेलू उपचार

    जॉन्डिस (पीलिया) की बीमारी क्यों होती है?

    अधिकतर जॉन्डिस को पीलिया भी कहा जाता है। बारिश के मौसम में यह बीमारी फैलने का अधिकतर चांस रहता है। इसलिए बारिश के समय में खानपान जितना हो सके घर पर ही करें। बाहर का अशुद्ध पाणी और खाना खाने से भी शरीर में जॉन्डिस पनपता है।

    पीलिया से बचने के लिये क्या सावधानी बरतनी चाहिये?

  • जितना हो सके बारिश के मौसम में ना भींगे।साथ ही खान-पान का ध्यान रखें। बाहर का खाना ना खाएं और साफ पानी पीने का प्रयास करें।
  • पीलिया / जॉन्डिस ठीक करने के घरेलू इलाज क्या है?

  • जॉन्डिस के कारण लीवर पर काफी प्रभाव पड़ता है। इसलिए यदि आप अल्कोहल का सेवन ज्यादा करते हैं तो अल्कोहल को पीना बिल्कुल बंद कर दें।फास्ट फूड खाना बिल्कुल बंद कर दीजिए।जितना हो सके फिल्टर वाला पानी पीजिए।
  • 1 thought on “बारिश बीमारिया और सावधानी और बचाव के असरदार घरेलू उपाय”

    Leave a Comment